Breaking News

द बॉडी शॉप इंडिया और डब्ल्यूटीआई ने हेल्थ केयर और सेनिटेशन लॉन्‍च किया

By Outcome.c :15-03-2019 08:44


समुदायों के सशक्‍तिकरण और हाथियों के संरक्षण के जरिये गारो ग्रीन स्पाइन का पुनर्बहाली

- गारो हिल्स, मेघालय, भारत -

गारो हिल्स के दूरदराज के गांवों में अच्छी स्वास्थ्य सेवा और स्वच्छता सुविधाओं का अभाव वर्षों से चिंता का विषय रहा है। जिसके कारण, इस क्षेत्र में स्वास्थ्य से जुड़े गंभीर मुद्दे सामने आये हैं। इलाके में जो थोड़े स्वास्थ्य केंद्र उपलब्‍ध हैं, उनमें भी प्राथमिक तौर पर आवश्‍यकता के अनुरूप सुविधाएं नहीं थीं। सिजू और बाघमारा (दक्षिण गारो हिल्स) स्वास्थ्य केंद्रों में आधुनिक स्वास्थ्य उपकरण उपलब्‍ध कराने के बाद, पिछले वर्ष, वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया और द बॉडी शॉप इंडिया ने असानांग हेल्थ सेंटर (पश्‍चिम गारो हिल्स) को बेहतर बनाने के लिए सार्वजनिक स्वच्छता सुविधाओं का निर्माण करके अपना सहयोग बढ़ाया है। यह पहलकदमी इस क्षेत्र में संरक्षण में सबसे आगे रहने वाले गारो समुदाय द्वारा किये जा रहे प्रयासों को मान्‍यता देने का एक तरीका है। 26 फरवरी 2019 को पश्चिम गारो हिल्स, मेघालय में असानांग पब्लिक हेल्थ सेंटर में स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र का उद्घाटन समारोह आयोजित किया गया था। इस अवसर पर उपस्‍थित गणमान्य लोगों में गारो हिल्स स्वायत्त जिला परिषद (जीएचएडीसी), स्वास्थ्य विभाग, द बॉडी शॉप इंडिया, वाइल्डलाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया के प्रतिनिधि और स्थानीय गारो समुदाय के सदस्य शामिल थे।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सुश्री शेली सी.एच. मोमिन, एम.सी.एस. ब्‍लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर, रोंग्राम,सी एंड आरडी ब्लॉक,पश्चिम गारो हिल्स के कहा कि "गारो हिल्स के समुदाय को सहायता प्रदान करने के लिए सरकार, एनजीओ और कॉरपोरेट के इस सुंदर एकजुटता को देखकर मुझे खुशी हो रही है।" डॉ. मारविन एम.  संगमा, जिला चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी, वेस्ट गारो हिल्स ने कहा कि “हम डब्ल्यूटीआई और द बॉडी शॉप इंडिया के आभारी हैं कि वे पब्लिक हेल्थ सेंटर के सहयोग के लिए आगे आये हैं और हमें उम्मीद है कि हम प्रकृति और पर्यावरणको बेहतर बना पायेंगे।

कार्यक्रम में पहलकदमी लेने के बारे में सुश्री श्रीति मल्होत्रा, सीईओ,द बॉडी शॉप इंडिया ने कहा, “हम अपनी संस्थापक अनीता रोडिक की विरासत को आगे ले जा रहे हैं, जिसके अंतर्गत हम समाज के लिए, विशेष रूप से स्थानीय पर्यावरण और समुदायों के लिए, अपना योगदान देने का प्रयास कर रहे हैं। इस क्षेत्र में, देश के किसी भी अन्य हिस्से के विपरीत, वन क्षेत्र समुदायों के स्वामित्व में है और इसे संरक्षित करने और संसाधनों का उपयोग करने का दायित्‍व समुदायों के पास है। हमें प्रसन्‍नता है कि हम आज इन सुविधा केंद्र का उद्घाटन कर रहे हैं, और हम यह भरोसा जताते हैं कि स्वास्थ्य और स्वच्छता के लिए किया गया यह सुधार स्थानीय लोगों को अच्छा स्वास्थ्य प्रदान करने में कारगर साबित होगा, साथ ही यह उन डॉक्टरों के लिए भी एक मंच प्रदान करेगा जो इन दूरदराज की जगहों के लोगों को अपनी सेवाएं देने के लिए तैयार हैं। इस परियोजना के लिए डब्ल्यूटीआई के साथ जुड़कर हमें बहुत खुशी हुई है, और उन्होंने वास्तव में हमें इस पहलकदमी को साकार करने में मदद की है।

श्री बाल्सरेंगसंगमा, फील्ड ऑफिसर-गारो प्रोजेक्ट, डब्ल्यूटीआई ने कहा कि “संरक्षण करना हमेशा गारो समुदाय के खून में रहा है और हम बस उनके कार्य के समर्थन में अपना योगदान दे रहे हैं।

सुश्री उपासना गांगुली-वाइल्ड लैंड्स प्रोग्राम, डब्ल्यूटीआई ने कहा, “स्थानीय समुदायों और सरकारों के साथ वन्यजीवों की सुरक्षा के लिए डब्ल्यूटीआई का मिशन द बॉडी शॉप के बायोब्रिड्स प्रोग्राम की सोच के साथ पूरे तालमेल में है और हम उम्मीद करते हैं कि हम गारो हिल्स में और अधिक वन भूमि की रक्षा करने के इन प्रयासों को साथ मिलकर जारी रखेंगे।”

वाइल्डलाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया (डब्ल्यूटीआई) के साथ मिलकर द बॉडी शॉप,  गारो हिल्स, मेघालय में समुदायों को सशक्त बनाते हुए और लुप्त प्राय हाथियों की रक्षा करते हुए, औरउनके संरक्षण के लिए बाधा रहित मार्ग और अनुकूल पर्यावरण के लिए प्राकृतिक गलियारे का निर्माण करते हुए, लुप्तप्राय आवास को फिर से बहाल करनेमें सहयोग कर रहा है। सामाजिक प्रतिबद्धता के12 महीनों की इस सक्रियता की शुरुआत अगस्त 2018 में द बॉडी शॉप इंडिया द्वारा की गई थी। इस अवधि के दौरान, द बॉडी शॉप के ग्राहकों को संरक्षण की महत्वपूर्ण आवश्यकता के बारे में जानकारी दी गयी और उन्हें इस उद्देश्‍य के लिए अपना योगदान करने के लिए कहा गया।

उद्घाटन समारोह में इस क्षेत्र के 70 से अधिक लोगों ने भाग लिया और इसका समापन स्वच्छता सुविधा केन्‍द्र के सामूहिक उद्घाटन और इसे सार्वजनिक उपयोग के लिए खोलने की घोषणा के साथ किया गया।

वर्ल्‍ड लैंड ट्रस्‍ट (डब्ल्यूएलटी) के सहयोग से, गारो हिल्स स्वायत्त जिला परिषद और राज्य वन विभाग के साथ मिलकर डब्ल्यूटीआई, एक अद्वितीय, समुदाय आधारित संरक्षण मॉडल के साथ ग्रीन स्पाइन के संरक्षण और बहाली के अपने उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए समुदायों के साथ मिलकर काम कर रहा है, ताकि उस क्षेत्र की समृद्ध जैव विविधता को सुरक्षित किया जा सके, जहाँ समुदाय अपनी ग्राम भूमि को स्वेच्छा से या द्विपक्षीय-साझाकरण मॉडल के जरिये 'ग्राम रिजर्व फ़ॉरेस्ट (वीआरएफ)' के रूप में अपने गाँव की भूमि को अलग कर देता है।

समुदायों ने संरक्षण के प्रयासों को गंभीरता से लिया है और स्थानीय सरकार के साथ मिलकर 17 वीआरएफ के रूप में 2800 हेक्टेयर से अधिक वन भूमि सुरक्षित किया है। द बॉडी शॉप इंडिया और डब्ल्यूएलटी के सहयोग से 2025 तक हाथियों, गिबन्स, चॉकलेट महसीर और अन्य प्रमुख वन्यजीवों की उत्तरजीविता से सम्‍बंधित संभावनाओं को बढ़ाने के लिए गारो ग्रीन स्पाइन की लगभग 4500 हेक्टेयर कैनोपी, कॉरिडोर और कैचमेंट क्षेत्र हासिल करने के उद्देश्य को प्राप्त करने में सफलता मिलेगी।

Source:Agency

Rashifal