Breaking News

भीम आर्मी के संस्थापक आजाद PM मोदी के खिलाफ वाराणसी से लड़ेंगे चुनाव

By Outcome.c :14-03-2019 07:47


मेरठ: भीम आर्मी (Bhim Army) के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के खिलाफ वाराणसी (Varanasi) से लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि पहले तो वह अपने संगठन से कोई मजबूत प्रत्याशी उतारने का प्रयास करेंगे, और प्रत्यासी न मिलने पर वह स्वयं मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे. NDTV से बात करते हुए चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने यह बात कही है. उन्होंने कहा कि मोदी जी को आसानी से जीतने नहीं दूंगा. इससे पहले मेरठ पहुंचकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने चंद्रशेखर आजाद से मुलाकात की. इससे कांग्रेस-भीम आर्मी में गठबंधन के कयास भी लगाए जाने लगे.
प्रियंका गांधी के साथ अपनी मुलाकात पर चंद्रशेखर ने NDTV को बताया कि प्रियंका ने उनसे भाई कहकर उनका हाल पूछा. मैंने कहा बहन मैं ठीक हूं. चंद्रशेखर ने कहा कि प्रियंका गांधी ने कहा कि आप अकेले लड़ रहे हैं सरकार के खिलाफ मैं आपको इतना बताने आई हूं कि हम सब आपके साथ हैं. हम सब आपका समर्थन करते हैं. एनडीटीवी से चंद्रशेखर ने कहा कि मैं किसी राजनीतिक दल का समर्थन नहीं चाहता हूं. मैं बहुजन समाज में जन्मा हूं, वहीं मरूंगा. मैं सिर्फ बहुजन समाज की राजनीति चाहता हूं. उन्होंने कहा कि इस चुनाव में मेरा मकसद सिर्फ मोदी को हराना है. वह जहां से चुनाव लड़ेंगे मैं भी वहीं से मैदान में उतरूंगा. 

इससे पहले एक वीडियो में उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि कल (मंगलवार) देवबंद में उनकी पदयात्रा उन्हीं के इशारे पर रोकी गई थी. उन्होंने कहा, 'हमारे पास पदयात्रा की अनुमति थी, लेकिन प्रशासन और सरकार इस बात को लेकर झूठ फैला रहे हैं.' चंद्रशेखर ने कहा, '15 मार्च को दिल्ली में बहुजन हुंकार रैली होगी, इसमें बड़ी संख्या में लोग भाग लेंगे. चाहे जो इसे रोकने का प्रयास करे, अब यह रुकेगा नहीं.' चंद्रशेखर ने कहा, 'लोकसभा चुनाव में मायावती को पूरा समर्थन दिया जाएगा. अखिलेश यादव को अभी प्रमोशन में आरक्षण के मुद्दे पर अपना रुख साफ करना होगा. सपा संरक्षक मुलायम सिंह अपने बयान से लोगों में भ्रम पैदा कर रहे हैं.'

बता दे कि भीम आर्मी (Bhim Army) प्रमुख चन्द्रशेखर आजाद को पुलिस ने मंगलवार को देवबंद में आचार संहिता उल्लंघन के आरोप में हिरासत में ले लिया गया था. बाद में उनकी तबीयत खराब होने पर मेरठ इलाज के लिए भेज दिया गया था. 

Source:Agency

Rashifal