Breaking News

SBI : 1 मई से शुरू करेगा यह सर्विस, कस्टमर्स को होगा फायदा

By Outcome.c :09-03-2019 08:50


देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने सेविंग अकाउंट और होम-ऑटो लोन पर लगने वाले ब्याज के तरीके को बदल दिया है। एसबीआई जमा बचत खातों की दर और लोन पर लगने वाली ब्याज दरें भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के रेपो रेट से लिंक्ड करेगा। यानी आरबीआई के रेपो रेट घटाने के तुरंत बाद एसबीआई बैंक अपनी ब्याज दरें कम कर देगा।

एसबीआई ऐसा करने वाला पहला बैंक है जिसने अपने डिपॉजिट (जमा दरों) और कम अवधि के लोन पर ब्याज दरें आरबीआई के रेपो रेट से जोड़ने का ऐलान किया है। बैंक के मुताबिक यह दरें 1 मई से प्रभावी होंगी। हालांकि, डिपॉजिट पर ब्याज दरों का फायदा उन्हीं को मिलेगा जिनका बैलेंस एक लाख रुपए से अधिक है।

रिजर्व बैंक ने मौद्रिक समीक्षा की बैठक में रेपो रेट 0.25 बेसिस प्वाइंट घटाकर 6.50 फीसदी से 6.25 फीसदी कर दिया है। एसबीआई ने कम अवधि के लोन, एक लाख रुपये से अधिक के डिपॉजिट, एक लाख रुपये से अधिक के सभी कैश क्रेडिट अकाउंट्स और ओवरड्राफ्ट को रेपो दर से जोड़ने का फैसला किया है। 

आरबीआई ने अपनी पॉलिसी में यह नियम बदलने का फैसला लिया था। एसबीआई के इस कदम से आरबीआई रेपो रेट में की कटौती या बढ़ोतरी को ग्राहकों तक पहुंचाने की प्रक्रिया जल्दी हो पाएगी। बैंक अब तक आरबीआई की दरों में कटौती का फायदा ग्राहकों को तुरंत नहीं दे रहे थे जिस पर आरबीआई ने कई बार नाराजगी जताई थी। 

Source:Agency

Rashifal