Breaking News

अनिल अंबानी के आ रहे अच्‍छे दिन, 4 महीनों में कम हो जाएगा आधा कर्ज

By Outcome.c :08-03-2019 09:20


लंबे समय से करीब 45 हजार करोड़ के कर्ज में कर्ज में डूबे रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी को कुछ दिनों से अच्‍छी खबरें मिल रही हैं. दरअसल, बीते दिनों ग्रुप की कंपनी रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर (आरइंफ्रा) को गुजरात में एयरपोर्ट बनाने का ठेका मिला. अब ग्रुप की एक अन्‍य कंपनी रिलायंस कैपिटल ने दावा किया है कि वह अगले तीन से चार महीने में कुल कर्ज 50 से 60 फीसदी कम कर लेगी.

कुल कर्ज 50 से 60 फीसदी कम करने का दावा

दरअसल, अनिल अंबानी के ग्रुप की रिलायंस कैपिटल ने कर्ज को चुकाने के लिए रिलायंस निप्पन लाइफ एसेट मैनेजमेंट और रिलायंस जनरल इंश्योरेंस में हिस्सेदारी बेचने की फैसला लिया है. कंपनी पैसे जुटाने के लिए मुख्य कारोबार से इतर की भी कुछ संपत्तियां बेच रही है. कंपनी ने एक बयान में कहा, ‘‘मुख्य कारोबार से इतर की कुछ संपत्तियों तथा रिलायंस निप्पन में 43 फीसदी और रिलायंस जनरल इंश्योरेंस में 49 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर कुल कर्ज में 50-60 फीसदी की कमी की जाएगी.’’

गुजरात में मिला ठेका

इससे पहले अनिल अंबानी के स्‍वामित्‍व वाली रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर (आरइंफ्रा) को गुजरात से अच्‍छी खबर मिली थी. दरअसल, आरइंफ्रा को राजकोट जिले के हिरासर में नए एयरपोर्ट का निर्माण करने का कॉन्‍ट्रैक्‍ट मिला है. कंपनी ने लार्सन एंड टू्ब्रो, दिलीप बिल्डकॉन और गायत्री प्रोजेक्ट्स समेत नौ बोलीदाताओं में सबसे कम बोली लगाकर यह ऑर्डर हासिल किया है. आरइंफ्रा ने इस कॉन्‍ट्रैक्‍ट के लिए 648 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी. कंपनी की ओर से इस एयरपोर्ट का निर्माण का लोकेशन अहमदाबाद और राजकोट को जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग 8बी के नजदीक है. यह मौजूदा राजकोट एयरपोर्ट से 36 किलोमीटर दूर है.

एरिक्‍सन ग्रुप को कर्ज चुकाने की हो रही तैयारी

इससे पहले फरवरी में रिलायंस ग्रुप के प्रमुख अनिल अंबानी को एरिक्‍सन ग्रुप से लिए गए 500 करोड़ रुपये के कर्ज के चक्‍कर में सुप्रीम कोर्ट से फटकार और जुर्माना झेलनी पड़ी थी. लेकिन अब अनिल अंबानी की कंपनी इस कर्ज को चुकाने का भी प्‍लान बना चुकी है. इस संबंध में रिलायंस ग्रुप की फाइनेंशियल सर्विस कंपनी रिलायंस कैपिटल ने बीते दिनों जानकारी दी थी. उन्‍होंने बताया था कि रिलायंस निप्पॉन लाइफ एसेट मैनेजमेंट लिमिटेड (आरनाम) में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी कर ली है. आरनाम, दोनों कंपनियों का ज्‍चाइंट वेंचर है. इस कंपनी में अनिल अंबानी की रिलायंस कैपिटल का 42.9 फीसदी शेयर है जबकि जापान की निप्पॉन लाइफ इंश्योरेंस की 42.88 फीसदी हिस्‍सेदारी है.
 

Source:Agency

Rashifal