Breaking News

ब्रिटेन: हेल्थ सरचार्ज दोगुना किए जाने के विरोध में उतरे भारतीय डॉक्टर

By Outcome.c :11-02-2019 07:14


ब्रिटेन में भारतीय डॉक्टरों और चिकित्सा सेवा से जुड़े पेशेवरों ने हेल्थ सरचार्ज के विरोध में अभियान छेड़ दिया है। उन्होंने ब्रिटेन में काम करने वाले यूरोपीय संघ के बाहर के पेशेवरों पर थोपे गए सरचार्ज को दोगुना किए जाने के फैसले को अनुचित करार दिया है।

ब्रिटेन ने अप्रैल 2015 में इमिग्रेशन हेल्थ सरचार्ज शुरू किया था। दिसंबर 2018 में सरचार्ज को 200 पौंड से बढ़ाकर 400 पौंड (करीब 36 हजार 800 रुपये) प्रति वर्ष कर दिया गया। यह सरचार्ज कामकाजी, शिक्षा और परिवार वीजा पर ब्रिटेन में छह माह से ज्यादा रहने वालों पर लगाया जाता है। ब्रिटेन में भारतवंशी डॉक्टरों का प्रतिनिधित्व करने वाली संस्था ब्रिटिश एसोसिएशन ऑफ फिजीशियन ऑफ इंडियन ओरिजिन (बीएपीआइओ) सरचार्ज पर पुनर्विचार करने के लिए गृह विभाग में लॉबिंग कर रही है।

संस्था की दलील है कि नेशनल हेल्थ सर्विस में स्टॉफ की कमी को पूरा करने के लिए भारत से स्वास्थ्य सेवा पेशेवरों को भर्ती करने के प्रयास पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। बीएपीआइओ के अनुसार, नेशनल हेल्थ सर्विस के 11 क्लीनिकल पदों में से एक रिक्त है। जबकि नर्सिग में आठ में एक पद खाली है। रिक्तियों की यह संख्या साल 2030 तक ढाई लाख के करीब पहंच सकती है। भारत जैसे देशों के डॉक्टरों, नर्सों और दूसरे स्वास्थ्य सेवा पेशेवरों को ब्रिटेन की चिकित्सा प्रणाली की रीढ़ कहा जाता है।
 

Source:Agency

Rashifal