Breaking News

फर्जी हाई सिक्युरिटी नंबर प्लेट फैक्ट्री का खुलासा, गिरफ्त में जालसाज

By Outcome.c :08-11-2018 07:40


दिल्ली पुलिस ने फर्जी हाई सिक्युरिटी नंबर प्लेट बनाकर बेचने वाले दो युवकों को गिरफ्तार किया है. पंकज और सुमित नाम के इन आरोपियों ने इसके लिए बाकायदा एक फैक्ट्री लगा रखी थी. दिल्ली के जनकपुरी-असलतपुर की ऑटो मार्केट में ये फर्जी नंबर प्लेट बनाने की फैक्ट्री थी.

गिरफ्तार आरोपियों ने खुलासा किया है कि खुद उन गाड़ी मालिकों को नहीं पता कि उन्होंने असली नहीं बल्कि फर्जी डीलर से यह नंबर प्लेट लगवा ली है. शक है कि इस फर्जीवाड़े में कश्मीरी गेट ऑटो मार्केट और करोलबाग के भी कुछ दुकानदार शामिल हो सकते हैं.

पुलिस के मुताबिक ये लोग एक प्लेट को करीब डेढ़ हजार रुपये में बेचते थे. इसी महीने अक्टूबर में इन लोगों ने ये काम शुरू किया था और अब तक दो हजार से ज्यादा हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट बना चुके हैं.

पश्चिमी दिल्ली की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने बताया कि इस धंधे का मास्टरमाइंड पंकज है, जो पहले कश्मीरी गेट ऑटो मार्केट में फैंसी नंबर प्लेट बनाता था. बाद में उसने जनकपुरी में फर्जी नंबर प्लेट का धंधा शुरू किया.

पुलिस के मुताबिक इन लोगों ने सभी से यह बता रखा था कि वह सरकार की ओर से हाई सिक्यॉरिटी नंबर प्लेट बनाने वाले ऑथराइज्ड डीलर हैं.

वहीं, जांच के बाद पुलिस इस नतीजे पर पहुंची है कि इन फर्जी नंबर प्लेटों में केवल एक फीचर के अलावा बाकी सब असली था, लेकिन हाई सिक्यॉरिटी नंबर प्लेट का वही फीचर गाड़ी के लिए सबसे अहम बताया गया है. उसी में उस गाड़ी का सारा प्रोफाइल, यहां तक उसका कब-कब चालान काटा गया, यह भी फीड किया जाता है.

बता दें कि दिल्ली में 13 अक्टूबर तक सभी गाड़ियों के लिए हाई सिक्यॉरिटी नंबर प्लेट जरूरी है. वहीं दिल्ली और एनसीआर में दौड़ रहीं 2 हजार गाड़ियां ऐसी हो सकती हैं, जिनमें हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट फर्जी लगी हो.

जांच के दौरान ये भी पता लगा है कि इन लोगों के पास इस तरह से हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट बनाने के लिए देशभर से काफी संख्या में नबर प्लेट बनाने के ऑर्डर आए थे.

दो दिन पहले ही पंजाब से 10 हजार हाई सिक्यॉरिटी नंबर प्लेट बनाने का ऑर्डर आया था, लेकिन दिल्ली समेत  देशभर से इन हाई सिक्यॉरिटी नंबर प्लेट को बनवाने के ऑर्डर देने वाले अधिकतर दुकानदारों को इसकी जानकारी नहीं थी कि यह फर्जी है.

पुलिस के मुताबिक ये लोग इतने शातिर थे कि फर्जी हाई सिक्यॉरिटी नंबर प्लेट बनाने के लिए पुणे से एक महंगी मशीन मंगवाई थी, जिसकी कीमत करीब 10 लाख रुपये से ज्यादा बताई जा रही है.

Source:Agency

Rashifal