Breaking News

स्वच्छता अभियान प्रभारी के यहां मिली 20 करोड़ रुपए की संपत्ति

By Outcome.c :12-10-2018 08:20


इंदौर । स्वच्छ भारत अभियान के प्रभारी नगर निगम के सहायक यंत्री अभय पिता प्रकाश सिंह राठौर के यहां राज्य आर्थिक अपराध अनुसंधान ब्यूरो (ईओडब्ल्यू) की टीम ने गुरुवार सुबह छापा मारा। कार्रवाई के दौरान मकान, होस्टल, 60 लाख रुपए का दो किलो सोना, सोने के बिस्किट और 20 लाख रुपए नकद सहित करीब 20 करोड़ की संपत्ति मिली। सहायक यंत्री ने रिश्तेदारों के नाम पर करोड़ों की संपत्ति खरीदी थी, इसलिए उन्हें भी आरोपित बनाया गया है। मालूम हो, अगस्त माह में ही लोकायुक्त पुलिस ने बेलदार असलम खान के यहां दबिश दी थी। ईओडब्ल्यू एसपी सव्यसाची सराफ के मुताबिक अभय राठौर के खिलाफ बेनामी संपत्ति एकत्रित करने की शिकायत हुई थी। गुरुवार को टीम ने गुलाबबाग कॉलोनी स्थित राठौर के निवास, स्कीम-78 में दो स्थानों और बजरंग नगर में छापा मारा।

टीम सुबह साढ़े पांच बजे पहुंची तो राठौर वॉक पर जाने की तैयारी में था। जांच अधिकारी डीएसपी आनंद यादव के मुताबिक राठौर का छोटा भाई संतोष सिंह आईडीए में टाइम कीपर है। उसके नाम पर कई संपत्तियां खरीदी गई हैं। बहन माया सिंह, भानजे अमित सिंह, साले प्रदीपसिंह राठौर और उसकी पत्नी पूनम को भी अनुपातहीन संपत्ति अर्जित करने में सहयोग करने पर आरोपित बनाया गया है। उसके बैंकों में कई खाते मिले हैं। बैंकों को पत्र लिखकर खाते फ्रिज करने के लिए कहा गया है। राठौर का कहना है कि उसके बैंकों में लॉकर नहीं हैं।

यह मिला राठौर के यहां से

- गुलाबबाग में आलीशान बंगला।

- गुलाबबाग में प्लॉट क्रमांक 18 पर तीन मंजिला होस्टल और दुकानें।

- गुलाबबाग में प्लॉट क्रमांक 298 भाई के नाम पर।

- स्कीम 78 में दो मकान, एक प्लॉट।

- स्कीम134 व 94 में एक-एक प्लॉट

- बजरंग नगर में एक मकान।

- 36 बीमा पॉलिसियों में निवेश।

- 3 कारें और 4 दोपहिया।

- 20 लाख नकद।

- 2 किलो सोना।

- विभिन्न् बैंकों में जमा लाखों रुपए।

23 साल की नौकरी 60 लाख वेतन

अधिकारियों के मुताबिक अभय राठौर 1995 में सब इंजीनियर पद पर आया था। अब तक की सेवा में उसका वेतन करीब 60 लाख रु. होता है।

Source:Agency

Rashifal