Breaking News

एक दिन में होनी थी पाइपलाइन की टेस्टिंग, तीन दिन बंद रही सप्लाई

By Outcome.c :12-10-2018 08:20


भोपाल । मैदामिल रोड पर बिछाई गई नई पाइपलाइन की टेस्टिंग के लिए नगर निगम ने एक दिन के लिए पानी सप्लाई बंद की थी। लेकिन तीन दिन बाद भी पानी सप्लाई शुरू नहीं की गई। लगातार सप्लाई बंद रहने से आधा शहर पानी के लिए परेशान है।

गुरुवार को भी आधे शहर के लोग प्यासे रह गए। चौथे दिन शुक्रवार को कुछ क्षेत्रों में कम दबाव के साथ पानी सप्लाई होने की उम्मीद है, लेकिन कुछ इलाकों में जलसंकट बना रहेगा।

बोर्ड ऑफिस के पास पाइपलाइन को इंटरलिंक करने का काम पूरा करने के बाद गुरुवार शाम 7 बजे नई पाइपलाइन में पानी सप्लाई चालू की गई। नई लाइन होने के कारण शुरुआत के दो घंटों में पानी का प्रेशर कम रखा गया। फिर धीरे-धीरे प्रेशर को बढ़ाया गया। रात को कुल क्षमता का 30 फीसदी पानी ही प्रेशर से सप्लाई हो पाया।

बता दें कि गत मंगलवार को कोलार परियोजना की सप्लाई एक दिन के लिए बंद की गई थी। जलकार्य शाखा के इंजीनियर रात दिन मौजूद रहकर काम करवाने में जुटे रहे। लेकिन इसमें तीन दिन का समय लग गया। मुश्किल इसलिए हुई, क्योंकि पुराने शहर में प्रभावित क्षेत्रों में पर्याप्त टैंकरों से पानी की आपूर्ति नहीं हो पाई।

नहीं भर पाएंगी टंकियां, निगम ने गठित की पट्रोलिंग टीम

पाइपलाइनों में कम दबाव से पानी सप्लाई किए जाने के कारण पुराने शहर की टंकियां नहीं भर पाएंगी। इससे संभावना यह भी है कि टंकियां भरने की बजाय लाइनों से सीधे घरों में पानी सप्लाई किया जाएगा। ज्यादा से ज्यादा क्षेत्रों में पानी सप्लाई हो सके, इसके लिए पेट्रोलिंग टीम का गठन किया गया है, जो लगातार सप्लाई पर नजर रखेगी।

पुराने शहर में आएगा गंदा पानी

नई लाइन होने के कारण शुरुआत में लोगों के घरों में गंदा और मिट्टी युक्त पानी सप्लाई होगा। जिससे यह पानी पीने लायक नहीं होगा। दो दिनों तक यह समस्या बनी रह सकती है। इसके बाद पानी सप्लाई सामान्य होने की उम्मीद है।

पुलिस ने जब्त किया वाहन

बोर्ड ऑफिस स्थित केके प्लाजा के पास लाइन को इंटरलिंक के लिए 3.5 मीटर गहरा गड्ढा खोदा गया था। बताया जाता है कि गुरुवार की दोपहर को इसे भरने के लिए सीमेंट वाले वाहन का उपयोग किया गया। इसके कारण यहां ट्रैफिक जाम हो गया और पुलिस ने इस वाहन को जब्त कर लिया। निगम अधिकारी काफी मशक्कत के बाद दो घंटे में वाहन मुक्त करा सके। इसके बाद आगे का काम हो पाया।

Source:Agency

Rashifal