Breaking News

MP विधानसभा चुनाव में वीआईपी की सुरक्षा पर पीएचक्यू से रखी जाएगी नजर

By Outcome.c :11-10-2018 08:08


भोपाल। विधानसभा चुनाव के लिए प्रदेश में आने वाले वीआईपी की सुरक्षा पर पुलिस मुख्यालय से तीसरी आंख से नजर रखी जाएगी। वहीं प्रदेश पुलिस ने चुनाव कराने के लिए आयोग से केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल की 600 कंपनियों की मांग की है, जिसमें से 15 अक्टूबर के बाद 50 कंपनी प्रदेश को मिल जाएंगी।

सूत्रों के मुताबिक वीआईपी सुरक्षा को लेकर पुलिस मुख्यालय और ज्यादा चौकस हो गया है। हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के रोड शो के दौरान गुब्बारों में आग की घटना के बाद पीएचक्यू ने सभी एसपी को वीआईपी सुरक्षा में विशेष रूप से सख्ती बरतने को कहा है।

पुलिस मुख्यालय स्थित कक्ष में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इन कैमरों की मदद से अब वीआईपी के प्रदेश में कहीं भी आने पर पुलिस मुख्यालय से अधिकारी सीधे नजर रख सकते हैं।

15 अक्टूबर से आएगा फोर्स

बताया जाता है कि मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव कराने के लिए पुलिस मुख्यालय ने चुनाव आयोग से केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल की 600 कंपनियों की मांग की है। आयोग कितना बल चुनाव के लिए प्रदेश को उपलब्ध कराएगा, यह अभी स्पष्ट नहीं है।

15 अक्टूबर से प्रदेश पुलिस को आयोग केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल का प्रारंभिक आवंटन शुरू कर रहा है। पहले चरण में मध्यप्रदेश को 15 अक्टूबर को 50 कंपनियां मिलेंगी। गौरतलब है कि पिछले विधानसभा चुनाव 2013 में मप्र को 552 कंपनियों का फोर्स आयोग ने उपलब्ध कराया था।

Source:Agency

Rashifal