Breaking News

BJP के सांसद कहते है कि वे प्रधानमंत्री से कोई भी बात कहने मे डरते हैं

By Outcome.c :17-05-2018 07:13


रायपुर.राहुल गांधी गुरुवार को दो दिन के छत्तीसगढ़ दौरे पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि भाजपा के सांसदों और देश के जजों में एक डर है। ये डर कौन फैला रहा है। 17-18 मई को राहुल प्रदेश के चार संभागों में तीन सभाएं लेंगे और दो जगहों पर कार्यकर्ताओं से सीधे संवाद करेंगे। लेकिन इनमें से सबसे ज्यादा चर्चा पेंड्रा और कोटमी के आयोजनों की है। बता दें कि कांग्रेस से बर्खास्त हुए अजीत जोगी ने नई पार्टी जोगी कांग्रेस बनाई थी।

भाजपा सांसद कहते हैं- मोदी से बात नहीं कर सकते

- राहुल गांधी ने कहा, ''भाजपा सांसदों से संसद में मेरी बात होती है, उनके अंदर डर है। सुप्रीम कोर्ट के जजों में भी डर है। सांसद मुझसे कहते हैं कि हम प्रधानमंत्री से कोई बात नहीं कह सकते हैं। पूरे देश में आज एक डर फैल रहा है।''

- ''अरुण जेटली कहते हैं कि किसान का कर्ज माफ करना हमारी सरकार का काम नहीं है, ऐसी कोई योजना नहीं है। वहीं, देश के 15 अमीरों का ढाई लाख करोड़ कर्ज माफ हो जाता है, इस पर वित्त मंत्री कुछ नहीं बोलते।''

- ''आरएसएस के लोग देश के हर इंस्टीट्यूशन को अपने लोगों से भर रहे हैं। कांग्रेस ने ऐसा कभी नहीं किया। भाजपा नहीं चाहती कि रोहित वेमुला की तरह एक गरीब दलित युवा सपना देख सके। लोकतंत्र में गरीब, महिलाओं सब की जगह है।"
- "भाजपा वालों की विचारधारा है कि महिला की आवाज खुलकर नहीं गूंजनी चाहिए। इनका सोचना है कि महिला सिर्फ खाना पकाए, दलित सिर्फ सफाई करे और आदिवासी सिर्फ जंगल में रहें। इसीलिए वे सभी संस्थानों पर कब्जा कर रहे हैं।''

- "हिंदुस्तान गरीब देश नहीं है, यह गरीबों का देश है. छत्तीसगढ़ के पास क्या नहीं है? खनिज है, पानी है, लेकिन फिर भी छत्तीसगढ़ गरीब राज्य है।"

दो घंटे पहले पेंड्रा में ही अजीत जोगी की सभा

- कोटमी में शाम 4 राहुल गांधी सभा लेंगे और इससे ठीक दो घंटे पहले पेंड्रा में जोगी की सभा होगी। दोनों सभास्थलों की दूरी 20 किमी है। जोगी ने यहां अपनी सभा तभी तय कर दी थी, जब यहां राहुल का दौरा तय हुआ। - छत्तीसगढ़ में राहुल गांधी का दौरा कई मायनों में काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। अपने दो दिन के दौरे में राहुल गांधी प्रदेश के चार बड़े चार जिलों के 25 विधानसभा सीटों के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे। काफी लंबे समय बाद हो रहे इस दौरे को लेकर कांग्रेसी खासे उत्साहित हैं। कांग्रेस अध्यक्ष इस दौरान सरगुजा, बिलासपुर, दुर्ग और फिर रायपुर जिले के आयोजनों में शामिल होंगे।

रोड शो और पंचायती राज सम्मेलन के जरिए लोगों से मिलेंगे राहुल

- रायपुर में राहुल गांधी रोड शो और पंचायती राज सम्मेलन के जरिए लोगों से मिलेंगे। दुर्ग में कांग्रेस के विधायक और सांसद दोनों हैं। इस सीट पर भी भाजपा की खास नजर है। ये एकमात्र ऐसी लोकसभा सीट है जो कांग्रेस के पास है।

- कांग्रेस अपनी सीट और मजबूत करने के लिए यहां फोकस कर रही है। सरगुजा का सीतापुर आदिवासी क्षेत्र है। इस क्षेत्र कांग्रेस की पकड़ पहले से है। कांग्रेस विधायक अमरजीत भगत को आदिवासी कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। इस पर भी भाजपा की नजर है। ऐसे में कांग्रेस भी अपनी पकड़ और मजबूत बनाने में जुटी है।

जोगी कांग्रेस रायपुर से भी बड़ी भीड़ जुटाने की तैयारी में

- इधर, छत्तीसगढ़ में क्षेत्रीय शक्ति के रूप में खुद को स्थापित करने में जुटी जोगी कांग्रेस किसान आदिवासी सम्मेलन के जरिए गुरुवार को शक्ति प्रदर्शन करेगी। अजीत जोगी पेंड्रा के फिजिकल कॉलेज ग्राउंड से चुनावी शंखनाद करेंगे। मिशन साथ दो (72) के लक्ष्य के साथ पार्टी किसान और आदिवासी वोटरों को साधने में जुट गई है।

- जोगी की यह सभा इस मायने में भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि गुरुवार को ही पेंड्रा के कोटमीकला में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की सभा भी होनी है। जोगी की सभा दोपहर 2 बजे से और राहुल की सभा शाम 4 बजे शुरू होगी। ऐसे में दोनों दलों के बीच ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने की चुनौती होगी। मरवाही में विधायक अमित जोगी ने सभा का मोर्चा संभाला है।

बूथ लेवल के पदाधिकारियों से बात करेंगे राहुल

- 18 मई को सुबह 11 बजे बिलासपुर संभाग के कांग्रेस के बूथ लेवल के पदाधिकारियों से बात करेंगे। दोपहर 1 बजे दुर्ग में बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे। दोपहर 3 बजे वे दुर्ग से रोड शो करते हुए करीब 50 किमी दूर माना एयरपोर्ट तक आएंगे।

- इन कार्यक्रमों में उनके साथ कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया, प्रभारी सचिव डाॅ. चंदन यादव और अरुण उरांव के अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश, अभा कांग्रेस के संचार प्रभारी रणदीप सुरजेवाला, मीनाक्षी नटराजन, महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव और हर्षवर्धन सकपाल भी शामिल होंगे।

सभाओं से सीटों को साधेंगे राहुल, जोगी कांग्रेस का फोकस भीड़ पर

- कांग्रेस और जोगी कांग्रेस दोनों ही अपनी-अपनी सभाओं को सफल बनाने की कवायद में जुटी हैं। राहुल गांधी के धुआंधार दौरे से वोटरों को रिझाने के साथ ही कार्यकर्ताओं को रिचार्ज करने की कोशिश की जाएगी।

- वहीं जोगी कांग्रेस ने अपनी चुनौती के मुताबिक गुरुवार को ही पेंड्रा में सभा को सफल बनाने में पूरी ताकत झोंक दी है। उसकी कोशिश है कि यहां रायपुर से भी बड़ी भीड़ जुटा सके।

- गुरुवार को राहुल गांधी का रायपुर में पहला कार्यक्रम होना है। यहां की विधानसभा सीटों में भाजपा के विधायकों की संख्या ज्यादा है। जिले में सात विधानसभा सीटें हैं, जिनमें से दो में कांग्रेस और पांच पर भाजपा विधायक हैं।

- राहुल 18 मई को दुर्ग जिले में आयोजित कार्यक्रम में जिले के बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। उनसे सीधे संवाद भी करेंगे। दुर्ग जिले में सात विधानसभा सीटें हैं। इनमें पाटन और दुर्ग शहर विधानसभा कांग्रेस के कब्जे में है तो दुर्ग ग्रामीण, वैशालीनगर, अहिवारा, भिलाई शहर और साजा में भाजपा विधायकों का कब्जा है।


बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं से सीधे संवाद करेंगे राहुल

- राहुल बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे। वे वही कार्यकर्ता हैं जो चुनाव के समय सबसे निचले स्तर पर काम करते हैं। कांग्रेस के पास वर्तमान में बिलासपुर जिले की सात विधानसभा सीटों में चार कांग्रेस के पास हैं। लेकिन इनमें से दो विधायक जोगी कांग्रेस के खेमें में चले गए हैं। इस लिहाज से यहां कांग्रेस को आगामी विधानसभा चुनाव में काफी मेहनत करनी होगी।

- पेंड्रा क्षेत्र में कांग्रेस को मजबूत करने के लिए राहुल का संवाद कार्यक्रम सहायक हो सकता है। इसी तरह सरगुजा की चारों विधानसभा सीटों पर कांग्रेस का कब्जा है। यहां आदिवासी सम्मेलन के बहाने राहुल उन्हें रिझाने की कोशिश करेंगे।

Source:Agency

Rashifal