Breaking News

भारत-प्रशांत क्षेत्र में चीन के रणनीतिक इरादे प्रतिकूल: पेंटागन

By Outcome.c :16-05-2018 07:43


पेंटागन । एक मुक्त और खुले भारत-प्रशांत क्षेत्र को बनाए रखने के प्रति अपनी प्रतिज्ञा दोहराते हुए, ट्रंप  प्रशासन ने बुधवार को कहा कि इस क्षेत्र में चीन के रणनीतिक इरादे और प्रक्षेपवक्र अस्थिर तथा प्रतिकूल हैं।

अमेरिकन कांग्रेस की सुनवाई के दौरान एशियाई और प्रशांत सुरक्षा मामलों के सहायक सचिव रैंडल श्राइवर ने सांसदों को बताया कि चीन के साथ अमेरिका एक रचनात्मक, परिणाम-उन्मुख संबंधों को जारी रखेगा, लेकिन यह उन नीतियों या कार्यों को स्वीकार नहीं करेगा जो अंतरराष्ट्रीय नियम और आदेश को कमजोर करने की कोशिश करते हैं। इस क्षेत्र के लिए हमारा दृष्टिकोण एक मुक्त और खुले भारत-प्रशांत क्षेत्र को बनाए रखने का है।

उन्होंने कहा कि चीन को अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को आकार देने के समर्थन में होना चाहिए, जैसा कि सभी देश करते हैं। हालांकि, हाल के वर्षों में, हम चीन के रणनीतिक इरादों और प्रक्षेपण से चिंतित हुए हैं, उदाहरण के लिए इस क्षेत्र में कुछ चीन की कुछ गतिविधियां देखी गई हैं, जिन्हें हम दक्षिण चीन सागर में अस्थिर और प्रतिकूल के रूप में देखते हैं।
उन्होंने कहा, 'हम उस आदेश के लिए खड़े होंगे और बचाव करेंगे, और हम दूसरों को ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे, हालांकि हम चीन के साथ सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जहां हमारी रुचियां संरेखित हैं, जहां हमारी रुचियां अलग हो जाएंगी, हम वहां दृढ़ता से प्रतिस्पर्धा करेंगे।' पेंटागन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हमारा लक्ष्य सभी देशों के लिए समृद्धि, सुरक्षा और स्वतंत्रता में रहना, गुलामी से मुक्त होना और अपना रास्ता चुनने में सक्षम होना है।
 

Source:Agency

Rashifal