Breaking News

भारत के हर दांव पर मेडल, खाली हाथ नहीं लौटा कोई पहलवान

By Outcome.c :16-04-2018 06:48


गोल्ड कोस्ट में कॉमनवेल्थ खेलों का समापन हो चुका है और पदकों के लिहाज से यह भारत का तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. इन खेलों में भारतीय खिलाड़ियों ने 26 स्वर्ण, 20 रजत और 20 कांस्य पदक सहित कुल 66 पदक जीते. कुश्ती में देश का कोई भी पहलवान बिना पदक के स्वदेश नहीं आया. भारतीय दल के सभी 12 रेसलर पदक जीतने में कामयाब रहे. कुश्ती की अलग-अलग स्पर्धाओं में भारत को 5 स्वर्ण, 3 रजत और 4 कांस्य पदक हाथ लगे. 

भारत के युवा पहलवान राहुल अवारे ने गोल्ड कोस्ट में विरोधी पहलवान को चित करके सोने का तमगा हासिल किया. फाइनल मुकाबले में उन्होंने पुरुषों की फ्री स्टाइल 57 किलोग्राम में कनाडा के पहलवान स्टीवन ताकाहाशी को शिकस्त दी.

पुरुष फ्री स्टाइल 74 किलोग्राम में सुशील कुमार ने भारत को गोल्ड दिलाया. अपेक्षा के अनुरूप यह स्टार पहलवान फाइनल में साउथ अफ्रीका के जोहानेस बोथा पर टूट पड़ा और केवल एक मिनट के भीतर फटाफट गोल्ड पर कब्जा कर लिया. सुशील ने 10-0 से कामयाबी पाई. सुशील ने राष्ट्रमंडल खेलों का तीसरा स्वर्ण पदक जीता. इससे पहले उन्होंने 2010 दिल्ली और 2014 ग्लास्गो कॉमनवेल्थ में गोल्ड मेडल जीते थे.

कॉमनवेल्थ गेम्स में विनेश फोगाट ने फ्री स्टाइल कुश्ती के 50 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया. फाइनल में विनेश ने कनाडा की जेसिका मैक्डोनाल्ड को 13-3 से मात दी. विनेश ने आते ही जेसिका को कब्जे में लिया और पटखनी देते हुए चार अंक हासिल किए.

भारतीय पहलवान सुमित मलिक ने राष्ट्रमंडल खेलों में पुरुषों के 125 किलो फ्रीस्टाइल वर्ग में स्वर्ण जीता, क्योंकि उनके प्रतिद्वंद्वी नाइजीरिया के सिनिवी बोल्टिक चोट के कारण मुकाबले में उतर नहीं सके. जिसकी वजह से उन्हें वॉकओवर दिया गया. अपने गोल्ड मेडल जीतने के सफर में सुमित ने पाकिस्तान के तैयब रजा को 10- 4 से हराया था.

Source:Agency

Rashifal