Breaking News

कर्ज के जाल में फंसा उत्तर कोरिया, ठीकरा UN पर फोड़ा

By Outcome.c :10-02-2018 07:14


प्योंगप्यांगः संयुक्त राष्ट्र (UN)द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों के चलते उत्तर कोरिया कर्ज के जाल में फंसता जा रहा है।  इन प्रतिबंधों के कारण प्योंगयांग से धन हस्तांतरण पर रोक लगाई  गई है। उत्तर कोरिया ने कर्ज का ठीकरा का UN पर फोड़ते कहा है कि इन प्रतिबंधों के चलते ही वह  यूएन को करीब 184,000 अमरीकी डॉलर का भुगतान करने में असमर्थ है।  उत्तर कोरिया के संयुक्त राष्ट्र मिशन ने कहा है कि अगस्त की शुरुआत में सुरक्षा परिषद द्वारा डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया के विदेश व्यापार बैंक पर लगाए गए प्रतिबंधों ने अंतर्राष्ट्रीय लेनदेन के प्रभार में भुगतान करना असंभव बना दिया गया है।

 मिशन ने कहा कि राजदूत जा सॉंग ने प्रबंधन के लिए अंडर-सेक्रेटरी जनरल से बैंकिग चैनल खोलने के अनुरोध के लिए मुलाकात की, जिसे डीपीआरके का 183,458 डॉलर का भुगतान किया जा सके। साथ ही शांति बनाए रखने और अंतर्राष्ट्रीय ट्रिब्यूनल के लिए अलग बजट के लिए भी पैसों की जरुरत है।बता दें कि 3 और 27 जूलाई को उत्तर कोरिया की इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइलों के पहले सफल परीक्षण के बाद सुरक्षा परिषद ने कोरियाई बैंक प्रतिबंध पर लगाए हैं।

यह मिसाइल संयुक्त राज्य तक पहुंचने में सक्षम है। संयुक्त राष्ट्र ने 3 सितंबर को प्योंगयांग के छठे और सबसे मजबूत परमाणु परीक्षण विस्फोट के जवाब में कोरिया पर कठोर प्रतिबंध लागू कर दिए थे और दिसम्बर 29 में सबसे शक्तिशाली इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल के परीक्षण के बाद इन प्रतिबंधों को और कठोर कर दिया गया।

डीपीआरके ने कहा कि यह प्रतिबंध अमेरिका और उसके अनुयायियों द्वारा अनुमोदित प्रतिबंधों के अनियमित राजनीतिक उद्देश्यों को दिखाता है। यह प्रतिबंध क्रूर और अशिक्षित हैं। मिशन ने संयुक्त राष्ट्र को ने प्रबंधन प्रमुख के माध्यम से जीवन रेखा और बैंक लेनदेन चैनल को तुरंत सुरक्षित करने के लिए कहा है। जिससे डीपीआरके नियमित रूप से अपने वित्तीय योगदान का भुगतान कर सके।

Source:Agency

Rashifal