Breaking News

आम आदमी कर सकेगा अपने शहर के स्टेशन की डिजाइन,रेलवे ने शुरू की स्पर्धा

By Outcome.c :06-02-2018 08:04


भोपाल । आपके शहर का स्टेशन कैसा हो, वहां सफाई किस तरह की हो। पार्किंग कहां हो, स्टेशन को आमदनी कैसे हो सकती है। इन सबके लिए आपके मन कोई डिजाइन आ रहा है तो इसे तैयार कर भारत सरकार को भेज सकते हैं। डिजाइन पसंद आई तो ठीक उसी तरह या कुछ आवश्यक बदलाव के साथ रेलवे उसे स्वीकार करेगा। स्टेशनों के रीडेवलपमेंट के लिए पहली बार इंडियन रेलवे ने इस तरह का इंटरनेशनल कांप्टीशन शुरू किया है।

की घोषणा की गई है। दरअसल, इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (आईआरएसडीसी) ने 26 जनवरी ने 637 स्टेशनों के डिजाइन के लिए 26 मार्च तक आइडिया मांगा है। इन्हीं में से 600 स्टेशनों के रीडेवलपमेंट की घोषणा इस साल के रेल बजट में की गई है। इसमें भोपाल भी शामिल है।

स्टेशनों के रीडेवलपमेंट के लिए पीपीपी से कोई डेवलपर मिल गया तो ठीक नहीं तो रेलवे खुद रीडेवलपमेंट करेगी। ऐसा पहली बार है जब आर्कीटेक्ट, इंजीनियर के साथ ही आम आदमी से डिजाइन के लिए सुझाव मांगे गए हैं। इसके पीछे रलवे का तर्क है कि हर व्यक्ति को उसके शहर के स्टेशन के बारे में ज्यादा जानकारी रहती है। लिहाजा उसको भी अच्छे आइडिया सूझते हैं।

यह होगा भोपाल में

यह ए1 कैटेगरी का स्टेशन है। एक नंबर प्लेटफार्म की ओर दो मंजिला स्टेशन बिल्डिंग, मल्टी लेवल पार्किंग बनेगी। सभी प्लेटफार्म के कवर ओवर शेड बदले जाएंगे। स्टील की बेंच, एलईडी लाइट व एयरपोर्ट जैसा अनाउंसमेंट सिस्टम होगा।

रीडेवलपमेंट में इस पर होगा फोकस

आय बढ़ाना, ग्रीन बिल्डिंग यानी सोलर इनर्जी का ज्यादा से ज्यादा उपयोग, मल्टीलेवल पार्किंग बनाकर मौजूदा पार्किंग की जगह कम करना, जिससे पैदल चलने वालों को आसानी हो, सभी तरह के पब्लिक ट्रांसपोर्ट की सुविधा स्टेशन से जुड़ी हो, दिव्यांगों के लिए सुविधाएं हों, सफाई, हैरिटेज लुक को बढ़ावा, टॉयलेट, ड्रिंकिंग वॉटर, साइनेज, पर्याप्त लाइटिंग, वेटिंग एरिया, कैटरिंग सुविधाएं आदि।

इसलिए इन स्टेशनों को चुना

विदिशा- सांची बौद्ध स्तूप के चलते

जबलपुर- पश्चिम मध्य रेल का बड़ा जंक्शन होने के चलते।

पिपरिया- पचमढ़ी के चलते

दमोह- भविष्य में यात्रियों की बढ़ेगी

उज्जैन- महाकाल के चलते आने जाने वाले लोगों की संख्या ज्यादा

रीवा, सतना- दोनों स्टेशन का डेवलपमेंट बहुत कम हुआ है।

देशभर के 600 से ज्यादा स्टेशनों के रीडेवलपमेंट के लिए डिजाइन मांगे हैं। कांप्टीशन के बाद इनसे डिजाइन चुना जाएगा - एसके लोहिया, सीईओ, आईआरएसडीस

Source:Agency

Rashifal