Breaking News

मृतक छात्र की मां ने स्वीकारा,हत्यारे से थे संबंध, फोन कर घर बुलाती थी

By Outcome.c :12-01-2018 08:46


संत हिरदाराम नगर। बैरागढ़ में आठ साल के छात्र की हत्या के मामले की जांच लगभग पूरी हो गई है। पुलिस ने रिमांड के दौरान आरोपी विशाल रूपानी उर्फ बिट्टू एवं मृत छात्र भरत उर्फ कार्तिक की मां सविता महावर का आमना-सामना कराया। सविता ने स्वीकार किया कि हत्यारे विशाल के साथ उसके संबंध थे। उसे खुद फोन कर घर पर बुलाती थी। पुलिस ने अदालत के आदेश पर आरोपी को जेल भेज दिया है।

तीन दिन पहले बैरागढ़ के राजेंद्र नगर निवासी परसराम महावर के पुत्र भरत उर्फ कार्तिक की पड़ोसी विशाल उर्फ बिट्टू ने गला घोंटकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने आरोपी को रिमांड पर लिया था। थाना प्रभारी सुधीर अरजरिया के अनुसार विस्तृत जांच में यह साफ हो गया कि आरोपी ने छात्र की मां के अंधे प्रेम में आकर मासूम कार्तिक की हत्या का फैसला किया था। कुछ दिन पहले कार्तिक ने दोनों को आपत्तिजनक हालत में देख लिया था। तब से आरोपी ने उसकी हत्या करने की ठान ली थी। मौका मिलते ही उसने क्राइस्ट मेमोरियल स्कूल से छात्र का अपहरण किया और योजनाबद्घ ढंग से उसकी हत्या कर दी।

आरोपी को मायके भी ले गई थी सविता

पुलिस के अनुसार छात्र की मां सविता महावर आरोपी विशाल को चाहती थी। कई बार जब वह घर में अकेली होती थी तो फोन कर विशाल को बुलाती थी। सविता अपने द्वारकानगर स्थित मायके भी विशाल को ले गई थी। आरोपी के साथ वह कई बार गणेश मंदिर सीहोर भी घूमने गई थी। पुलिस के मुताबिक आरोपी ने पहले ही दिन यह स्वीकार कर लिया था कि उसके छात्र की मां के साथ अवैध संबंध थे, लेकिन सविता यह बात मानने को तैयार नहीं थी। पुलिस ने जब आरोपी से सविता का सामना कराया तो उसने भी संबंध स्वीकार कर लिया। हालांकि पुलिस ने अभी उसके खिलाफ कोई प्रकरण कायम नहीं किया है। पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर आरोपी को जेल भेज दिया है।

दो बार बाइक से गिरा, छात्रों ने की मदद

हत्यारा बिट्टू कितना शातिर और पत्थर दिल है इसका अनुमान इस बात से लगाया जा सकता है कि उसने कृष्णा प्लाजा से बाहर निकलते वक्त बोरी में रखी लाश को कोचिंग के छात्रों की मदद से ही बाइक पर रखवाया। लोगों ने उसने कहा कि बोरी में कच्चा माल है। गुरुवार को एक और फुटेज सोशल मीडिया में वायरल हो गया। यह फुटेज बोरी में रखी लाश को बाइक पर ले जाते समय का है। बाइक पर रखते समय दो बार बोरी गिरी थी।

एक बाद खुद आरोपी के ऊपर बाइक समेत बोरी आ गिरी। वह हड़बड़ी में उठ खड़ा हुआ। यहां स्थित कोचिंग सेंटर के छात्रों ने उसकी मदद और उठाया। लेकिन, उसने बोरी को किसी को भी हाथ नहीं लगाने दिया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार वहां खड़े लोगों ने उससे पूछा कि बोरी में क्या है उसने कहा कच्चा माल है।

Source:Agency

Rashifal