वीडियो

देश

 

खेल

 

मनोरंजन

 

संपादकीय

विवेकानंद को बौना बनाने का कुत्सित प्रयास

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के साथ सबसे बड़ी समस्या यह है कि उसके पास अपना कोई ऐसा नायक नहीं है, जिसकी उसके संगठन के बाहर कोई स्वीकार्यता या सम्मान हो। उसके अपने जो नायक हैं, उनका भी वह एक सीमा से ज्यादा इस्तेमाल नहीं कर सकता, क्योंकि ऐसा करने पर राष्ट्रीय आंदोलन के दौरान किए गए उनके पापों का पिटारा खुलने…

विस्तार से देखें

भाजपा कार्यकारिणी: काठ की हांडी कितनी बार?

भाजपा ने 2019 के आम चुनाव के लिए और जाहिर है कि इस साल के आखिर में होने वाले तेलंगाना समेत अब पांच राज्यों के विधानसभाई चुनाव के लिए, अपना नारा खोज लिया है? पक्के तौर पर कहना मुश्किल है। पर इतना पक्के तौर पर कहा जा सकता है कि भाजपा ने अगले चुनाव के लिए अपना चेहरा भर नहीं…

विस्तार से देखें

नोटबंदी : न खुदा ही मिला न बिसाल-ए-सनम

प्रधानमंत्री ने नोटबंदी की घोषणा करते हुए कहा था कि इससे कालाधन तो बाहर आयेगा ही, जाली नोटों की मार्फत आतंकियों को सीमापार से मिलने वाली मदद रुक जाने से उनकी कमर भी टूट जायेगी। थोड़े ही दिनों बाद जब उन्हें लगा कि ऐसा कुछ भी मुमकिन नहीं हो पा रहा तो उन्होंने नोटबंदी को डिजिटल लेन-देन के प्रोत्साहन से…

विस्तार से देखें

सवाल तो और भी हैं मोदीजी

राजनीतिज्ञ को भविष्यदृष्टा होना चाहिए, ना कि भविष्यवक्ता। लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तो 2019 के चुनावों में न केवल अपनी रिकार्ड जीत की भविष्यवाणी की है, बल्कि महागठबंधन की विफलता का दावा भी ठोंक दिया है। इस साल के अंत तक होने वाले विधानसभा चुनावों में भाजपा की साख दांव पर लगी है। बीते कुछ उपचुनावों में भाजपा को…

विस्तार से देखें

Rashifal